Breaking News
जाने 25 सबसे ताकतवर देश की लिस्ट में भारत का कौनसा स्थान। | आजमगढ़ गैंगरेप मामले को लेकर दो समुदायों के बीच तनाव। | तारक मेहता का उल्टा चश्मा ' के सुपरहिट कैरेक्टर डॉ. हंसराज हाथी का निधन हो गया है। | जनता का विरोध देख स्थानीय विधायक सुरेंद्र पारीक मोटरसाइकिल पर बैठ वहाँ से भागे | जयपुर के आसपास के इलाकों में भूकंप आया। | राजस्थान में सुखेर थाना क्षेत्र के सरे खुर्द गांव में शुक्रवार दोपहर प्रेमी युगल को निर्वस्त्र कर रस्सी से बांध कर पूरे गांव में घुमाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। | अजमेर में भीषण सड़क हादसा, 10 की मौत, दो दर्जन से अधिक घायल | भारतीय टीम को लगा बड़ा झटका, इंग्लैंड के खिलाफ टी20 व वनडे सीरीज से बाहर हुए जसप्रीत बुमराह | प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा, देश के संविधान को कुचलने और लोकतंत्र को कैदखाने में बंद करने वाला बताया। | जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों के निशाने पर आतंकियों के कमांडर, टॉप 21 आतंकियों की सूची जारी
You are here: Home / मुस्लिम अधिकारियों का झुकाव भी सियासी पारी खेलने की तरफ। हबीब खान, तारिक आलम व हुसैन को मिल सकता है मौका।


  • मुस्लिम अधिकारियों का झुकाव भी सियासी पारी खेलने की तरफ। हबीब खान, तारिक आलम व हुसैन को मिल सकता है मौका।

    ।अशफाक कायमखानी।
    जयपुर।
                  राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन के चेयरमेन रहे मरहूम जे एम खान IAS के नागोर से लोकसभा चुनाव लड़ने के बाद से ही मुस्लिम अधिकारी भी सेवानिवृत्ति के बाद सियासी अखाड़े मे कूदकर अपनी पसंद के दल से टिकट पाकर जनप्रतिनिधि बनने की कोशिशें करते रहे है। जिनमे सवाईमाधोपुर के अलाहद्दीन आजाद RAS का पहले मदरसा बोर्ड चेयरमेन बनना एवं फिर विधायक बनना एक सफल उदाहरण है। आजाद के अलावा मरहूम जे एम खान IAS ने नागोर से लोकसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन वो जीत नही पाये थे।
                   हालांकि पुलिस सेवा के आईजी पद से रिटायर सीनियर अधिकारी लियाकत अली खां व मुराद अली अब्रा के टिकट का जूगड़ बेठने के भरषक प्रयत्न करने के बावजूद उन्हें अभी तक किसी दल का टिकट तो नही मिला लेकिन अशोक गहलोत सरकार मे लियाकत अली राजस्थान वक्फ बोर्ड चेयरमेन बनने मे कामयाब रहे है। इनके अलावा एम एस खान IAS व ऐ आर खान IAS  के सेवानिवृत्त होने के बाद से वो सियासत मे दखल तो खासा रखते है लेकिन उनको टिकट पाने की दोड़ मे दोड़ लगाते नही देखा जा रहा है।
                  राजस्थान मे चार महिने बाद होने वाले आम विधानसभा सभा चुनाव मे भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रहे मोहम्मद तारिक आलम IPS व हबीब खा गोरान IPS के चुनाव लड़ने की सम्भावना जताई जा रही है। मोहम्मद तारिक आलम के पिता मरहुम मंजूर आलम प्रदेश के नामी ऐडवोकेट व मुस्लिम लीग के प्रदेश अध्यक्ष रहे है। जबकि हबीब खान स्वयं राजस्थान लोकसेवा आयोग के चेयरमेन रहने के साथ साथ उनके पिता मरहुम भवंरु खा का खिदमत ऐ खल्क करने मे बडा नामो की फेहरिस्त मे शुमार होता रहा है। उक्त अधिकारियों के अलावा जल्द सेवा निवृत्त होने वाले अशफाक हुसैन IAS का नाम भी चुनाव लड़ने वालो की सूचि मे अक्सर चर्चा मे रहता आया है।
     कुल मिलाकर यह है कि लियाकत अली, मुराद अली अब्रा, अलाऊद्दीन आजाद, तारिक आलम, हबीब खां गोरान व अशफाक हुसैन जैसे रिटायर्ड मुस्लिम IAS व IPS अधिकारियों के अगले चुनाव मे टिकट पाकर चुनाव लड़ने वालो की लिस्ट मे शुमार होना माना जा रहा है। जबकि नीसार अहमद IGP , सरवर खान IGP, ऐ आर खान IAS, व एम एस खान IAS जस्टिस मोहम्मद असगर अली चोधरी के अलावा जस्टिस भवंरु खा के मिल्ली खिदमात मे लगे रहने के बावजूद उनके चुनाव लड़ने की चर्चा होना अभी तक सूनाई नही दिया है। जबकि इन अधिकारियों की ऊपरी सियासी हल्को मे अच्छा खासा असर देखा जाता रहा है। समुदाय के दानिशवर लोगो के एक तबके का मानना है कि सरकारी पेचिदगियों से भलीभांति परिचित व अच्छे खासे पढे लिखे लोग सियासत मे अगर जाते है तो समुदाय के हित मे बडा बदलाव नजर आ सकता है।

Got Something To Say:

Эсперанса купить кокаин, амф бошка меф и ск Your email address will not be published. Required fields are marked *

https://paslpossion.com/vilnyus-kupit-zakladku-geroin-kokain-ekstazi-gashish-boshki-shishki-mefedron-metadon-amfetamin-skorost-kristally-spais-mdma-ekstazi-tramal.html Your email address will not be published.